GPS क्या है और Tracking System कैसे काम करता है?

GPS Kya Hai or Kaise Kaam karta hai

What is gps in hindi? आज के टाइम पर आपको हर smartphone में GPS देखने को मिलेगा लेकिन ये GPS क्या है और जीपीएस काम कैसे करता है? GPS का hindi meaning क्या है? navigation system क्या है? Location tracking कैसे काम करता है? GPS का उपयोग कैसे करे? यह सारी बातें हम आपको इस पोस्ट में बताने जा रहे है जिससे आप GPS के बारे में बहोत कुछ जान पाएंगे.

GPS क्या है?

GPS का meaning है Global Positioning System। GPS एक global navigation satellite system है। इस technology का आविश्कार America के Defense Department ने 1960 के वर्ष में कि थी। उस समय ये technology केवल American Army ही उपयोग कर सकती थी। जिसे बादमे 27 April 1995 को सभी लोगो के उपयोग के लिए मंजुरी दी गयी थी और तभी से GPS ने पूरी तरह से काम करना शुरू कर दिया था। इस technology का उपयोग अब बहोत ही बड़े पैमाने पर होने लगा है। जैसे की Map बनाने के लिए, Location track करने के लिए, Navigation के लिए.

आजकल ये Technology का उपयोग हर एक Smartphone में अनिवार्य हो गया है। जिससे आप अपनी location पता कर सकते है और किसीभी जगह का distance पता कर सकते है। यह system Aircraft, Train और Bus जैसी transportation service में बहोत ही उपयोगी साबित हुवी है। इस technology की मदद से आप distance के साथ साथ ऊंचाई भी accurate तरीखे से जान सकते है। अब आप जान गये होंगे की GPS क्या है।

👉  GPS से कर सकते है ये 7 काम क्या आपने कभी ट्राय किया है ?

GPS Tracking System कैसे काम करता है?

GPS क्या है ये तो आप जान गये होंगे लेकिन अब जानते है की GPS काम कैसे करता है वो जान लेते है।

GPS Satellite की मदद से काम करता है जिसके लिए अमेरिकाने 50 सेभी ज्यादा GPS satellite launch किए है। वह satellite 24 hours पृथ्वी पर signal भेजता रेहता है। उन signals को receive करने के लिए हमे एक GPS receiver की जरुरत पड़ेगी। GPS receiver location का अनुमान पृथ्वी के ऊपर घुमाने वाले GPS satellite के समूह के द्वारा भेजे जाने वाले signal के आधार पर करता है।

हर एक satellite 24 hours signal भेजता रेहता है। receiver उन signals का टाइम और ऊस satellite का distance भी receive करता है। Receiver बेह्तर परिणाम के लिए 4 satellite का उपयोग करता है, जिससे user की dimensional position(latitude, longitude and altitude line- अंक्षाश, देशांतर रेखा और उन्नतांश) का पता चलता है। एक बार GPS system को GPS device का location पता चलने के बाद वह device की अन्य जानकारी find करता है जैसे की उसकी speed, ट्रेक, ट्रिप, दूरी, जगह से दूरी, सूर्य उगने और डूबने के समय के बारे में जानकारी एकत्र कर लेता है।

GPS Locking 

GPS locking se kisibhi device ke place ka exact location trace kiya ja sakta hai. GPS lock tracker ki moving speed par depend hota hai. jaise ki koi car chala raha hai to usaki accuracy kum hogi aur usaka exact location bhi find karne me time lag jata hai. GPS receiver ko start kis tarah se kiya gaya hai is baat par GPS locking depend karta hai aur ye 3 tarah se hota hai. – Hot, Warm and Cold.

Hot start– Agar GPS ko apni last position aur satellite ke sath hi UTC time pata hai to ye usi satellite ki help leta hai aur available information ke hisab se new position ka pata lagata hai. Ye process apki position parbhi depend karti hai, Agar GPS receiver last wali location ke aaspaas hi hai to tracking bahot fast ho jata hai.

Warm start– Isame GPS receiver last wale GPS satellite ke alava old information bhi store rakhata hai.  Is tarah se receiver sara data reset kar deta hai aur new position find karne ke liye satellite signal ka upyog karta hai, Ye hot start se slow hai but thode hi time me tracking kar leta hai.

Cold start– Ye situation me koi bhi information nahi hoti hai is liye device All information jaise ki satellite, position etc. ko find karna start karta hai, is liye isame position ko trace karne me bahot time lag jata hai.

Hum yaha par Mobile ka example le rahe hai, Humare Mobile me GPS receiver kaise kam karata hai, Sabse pehle mobile apne najdiki satellite ko find karke usake signal receive karata hai, isake liye minimum 4 satellite se signal milana avashyak hai, jisame 3 satellite wo signal kaha par mil rahe he usaka accurate location batata hai, jabki 1 satellite us receiver ki unchai(height) dikhata hai, is tarah hume hamara exact location mil jata hai,

Ise better tarikhe samjane ke liye is image ko dekhiye, isame apko dikhega ki kaise GPS satellite se humara exact location dikhata hai,

GPS24goldenSML

GPS के उपयोग

GPS का उपयोग आप बहोत सारी जगह पर कर सकते है। जैसे की Vehicle navigation,  photography,  Mobile phones, Flight tracking, geo tagging, geo fencing, Astronomy, Disaster Relief, Emergency services, Tectonics जैसी जगह पर आजकल GPS ka उपयोग होता है लेकिन सबसे ज्यादा GPS का उपयोग smartphone user ही करते है।

Mobile फोन में 2 type के GPS use होते है जिसकी जानकारी निचे दी गयी है।

A-GPS (Assistant-GPS)

इस तराह के GPS का उपयोग GPS adharit positioning system के शुरू होने की process में speed बढ़ाने के लिए किया जाता है। जब  signal low होते है तब A-GPS position को lock करने में receiver की मदद करता है। ऐसा करने के लिए Mobile फोनमें network connection की जरुरत पड़ती है क्यू की A-GPS Assistant server का उपयोग करके lock process को पुरा करता है। यह एक web based internet server है जो की पेहले सेही satellite की पूरी जानकारी store रखता है।

S-GPS (Simultaneous-GPS)

S-GPS से Mobile फोन को GPS और Voice data एक ही टाइम पर मिलते है। network carrier के लिए satellite आधारित reporting को improve करने के लिए यह तरीका adopt किया जाता है इससे ही network provider location based service provide करा पाते है।

 

ऐसे ही कुछ और जानकारियों के लिए इन Post को जरुर पढ़े-
👉 Top 7 Uses of GPS Tracking Device in Hindi
👉 Mobile me SAR Value Kya Hai
👉 VoLTE and 4G क्या है और कैसे करता है ?
👉Smartphone Ke All Sensors ki Full Details

तो दोस्तों उम्मीद करता हु की आपको GPS क्या है? इसकी पूरी जानकारी मिली होगी और आप येभी जान गये होंगे की Tracking System कैसे काम करता है? अगर आपको इसके बारे में कोई भी सवाल हो तो आप नीचे comment कर सकते है। हम आपको इसी तरह की नयी जानकारी देते रहेंगे और अगर आप इसी तरह की जानकारी अपने ईमेल पर पाना चाहते है तो हमारी वेबसाइट को आज ही subscribe करले और हमें फेसबुक पर follow करे!

What is GPS and How GPS works Full details in English

40 Comments

  1. Ravi 21/06/2017
  2. Manoj Kumar 02/06/2017
  3. DHEERAJ KUMAR CHAUDHARY 13/05/2017
    • Sagar Patel 16/05/2017
  4. sweety 08/04/2017
    • Sagar Patel 09/04/2017
    • jyoti 02/05/2017
      • Sagar Patel 03/05/2017
  5. Shashank rajput 29/03/2017
  6. shakti kumar jindal 25/03/2017
  7. kishan 25/03/2017
    • Sagar Patel 25/03/2017
  8. ayazss 19/02/2017
    • Sagar Patel 19/02/2017
  9. Rohit 16/02/2017
    • Sagar Patel 16/02/2017
  10. tutu bora 15/02/2017
  11. ompakash 26/01/2017
    • Sagar Patel 26/01/2017
  12. Guddu Choudhary 17/01/2017
    • Sagar Patel 17/01/2017
  13. aslam 05/01/2017
  14. Anonymous 09/12/2016
  15. Vinay Gautam 29/11/2016
  16. sunny lawaniya 05/11/2016
  17. sunny lawaniya 03/11/2016
  18. SagaR Sabhaya 18/10/2016
  19. Pranshu Gond 18/10/2016
  20. Anonymous 09/10/2016
  21. SagaR Sabhaya 04/10/2016
  22. arun sen 04/10/2016
  23. Anonymous 16/09/2016
  24. SagaR Sabhaya 10/06/2016
  25. Rajiv Malviya 10/06/2016
  26. Sabhaya Sagar 12/03/2016
  27. Anuj Godara 12/03/2016
    • vinod 29/06/2017

Leave a Reply

error: Content is protected !!